Category: शिशु रोग

शिशु के टेढ़े मेढ़े दांत बिना तार के सीधा और अन्दर करें

By: Salan Khalkho | 14 min read

विज्ञान और तकनिकी विकास के साथ साथ बच्चों के थेड़े-मेढे दातों (crooked teeth) को ठीक करना अब बिना तार के संभव हो गया है। मुस्कुराहट चेहरे की खूबसूरती को बढ़ाता है। लेकिन अगर दांत थेड़े-मेढे (crooked teeth) तो चेहरे की खूबसूरती को कम कर देते हैं। केवल इतना ही नहीं, थेड़े-मेढे दातों (crooked teeth) आपके बच्चे के आत्मविश्वास को भी कम करते हैं। इसीलिए यह जरूरी है कि अगर आपके बच्चे के दांत थेड़े-मेढे (crooked teeth) हो तो उनका समय पर उपचार किया जाए ताकि आपके शिशु में आत्मविश्वास की कमी ना हो। इस लेख में हम आपको बताने जा रहे हैं कि किस तरह आप अपने बच्चे के थेड़े-मेढे दातों (crooked teeth) को बिना तार या ब्रेसेस के मदद के ठीक कर सकते हैं।

शिशु के टेढ़े मेढ़े दांत बिना तार के सीधा और अन्दर करें

आज विज्ञान ने बहुत तरक्की कर लिया है।  आज ऐसी तकनीक उपलब्ध है जिसकी सहायता से  डॉक्टर दातों को बिना तार या ब्रेसेस (without dentures) के मदद के  भी सीधा कर सकते हैं। जिस प्रकार से शरीर के दूसरे अंगों के सही रखरखाव की आवश्यकता पड़ती है ठीक उसी तरह से दातों को भी ठीक रखने की जरूरत है।  दांतो की अहमियत केवल इतनी नहीं कि वह चेहरे की खूबसूरती को बढ़ाते हैं,  बल्कि वह बहुत महत्वपूर्ण काम भी करते हैं -  जैसे कि आपके आहार को चबाना और पाचन योग्य बनाना।  कल्पना करके देखिए कि बिना दांतो के जीवन कैसा होगा। 

थेड़े-मेढे दातों (crooked teeth) ठीक तरह से आहार को चबा नहीं पाते हैं -  इसका नतीजा यह होता है कि आहार बिना पूरी तरह  चबाये हुए ही पेट तक पहुंच जाता है।  इससे पेट पर अस्वाभाविक दबाव बढ़ता है।  केवल इतना ही नहीं, थेड़े-मेढे दातों (crooked teeth) की वजह से आहार  को चबाते समय मसूड़ों को भी चोट पहुंचता है।  दांतो के बीच में अगर रिक्त स्थान है -  तो यह भी बहुत हानिकारक है -  क्योंकि इसमें आहार  फस जाता है और सड़ने लगता है जिसकी वजह से दांतों में कैविटीज पैदा हो जाती है। 

थेड़े-मेढे दातों crooked teeth को बिना ब्रसेस के ठीक करना

थेड़े-मेढे दातों (crooked teeth) को बिना ब्रसेस के ठीक करना 

थेड़े-मेढे दातों (crooked teeth) बहुत आसानी से बच्चों में ठीक किया जा सकता है।  दांतों के डॉक्टर शिशु के मुंह को फैलाकर दांतों को ठीक करने की कोशिश करते हैं -  ताकि सभी दांत ठीक तरह से अपनी जगह बैठ जाएं।  यह तार या ब्रेसेस के मदद से किया जाता है। यह लेख थोड़ा अलग है क्योंकि इस लेख में हम आपको यह बताएंगे कि नई तकनीकी की सहायता से किस प्रकार से डॉक्टर बच्चों के थेड़े-मेढे दातों (crooked teeth)  को बिना तार या ब्रेसेस के मदद ठीक कर रहे हैं। 

दांतों की समस्या जिन्हें बिना ब्रसेस के ठीक किया जा सकता है

दांतों की समस्या  जिन्हें बिना ब्रसेस के ठीक किया जा सकता है

अगर आपके शिशु के दांत थेड़े मेढे (crooked teeth)  है तो उसके कई वजह हो सकते हैं।  हम आपको ऐसी परिस्थितियों के बारे में बताने जा रहे हैं जिनकी वजह से अगर आपके शिशु के दांत थेड़े मेढे (crooked teeth)  है - तो बिना ब्रसेस के ठीक किया जा सकता है।

  1. कम स्थान में ज्यादा दांत
  2. दांत अपने स्थान से बाहर हैं
  3. अविकसित जबड़े

कम स्थान में ज्यादा दांत

कम स्थान में ज्यादा दांत

कम स्थान में ज्यादा दांत होने की वजह से भी दांत बदसूरत देखते हैं और एक लय में नहीं हो पाते हैं।  अगर यह समस्या बहुत ज्यादा गंभीर नहीं है तो दांतों के डॉक्टर इसे बिना बृजेश की सहायता से केवल  retainers इस्तेमाल करके ठीक कर सकते हैं।

अपने स्थान से बाहर है Malocclusion

अपने स्थान से बाहर है (Malocclusion)

अगर आपके शिशु के सभी दांत एक पंक्ति में ना हो तो भी वे अपनी खूबसूरती खो देते हैं।  इस प्रकार के दांत आहार को जब आते समय जबड़े तथा मुंह को भी चोट पहुंचा सकते हैं।  सभी दातों को खूबसूरती से एक पंक्ति में लाने के लिए डॉक्टर कुछ appliances की सहायता ले सकते हैं। इन appliances के द्वारा डॉक्टर दांतों को पकड़कर के एक पंक्ति में लाने की कोशिश करते हैं। 

अविकसित जबड़े

अविकसित जबड़े

 जिन बच्चों के जबड़े पूरी तरह से विकसित नहीं होते हैं, उनमें दांत आगे पीछे होने लगते हैं क्योंकि उन्हें बढ़ने के लिए पर्याप्त जगह नहीं मिलता है।  ऐसी स्थिति में दांतों के डॉक्टर जबड़ों को फैलाने की कोशिश करते हैं  ताकि सभी दातों को पर्याप्त स्थान मिल सके और अभी खूबसूरती से एक पंक्ति में आ सकें। 

दांतों को ठीक करना

दांतों को ठीक करना

दांतों के डॉक्टर आपके शिशु के दांतो की अवस्था को देखकर इस बात का निर्धारण करेंगे कि उसके दांतों को ठीक करने के लिए कौन सा तरीका सबसे उपयुक्त रहेगा। दातों के डॉक्टर चाहे कोई भी तरीका अपनाएं, आप इस बात का ध्यान रखें कि आपके शिशु के दांत पूरी प्रक्रिया के दौरान साफ-सुथरे रहे।  हर दिन सुबह और  रात में  सोने से पहले शिशु को दांत साफ करना सिखाए।  इससे दांत स्वस्थ रहेंगे और प्रक्रिया के दौरान उन्हें कोई हानि भी नहीं पहुंचेगा और ना ही उनमें में संक्रमण लगेगा। 

रिलेटेड टर्म्स: दांतो को सीधा करना पहले से आसान हो गया है। आज कल दांत में तार के अलावा और कई ऐसी तकनीकें आ गयी हैं जिनसे दांत सीधे  सकते हैं। टेढ़े दांतों से यूं पाएं छुटकारा!/टेढ़े मेढ़े दांतो को सीधा करने के आसान घरेलू उपाय/teeth thik karne ke upay/dant andar karne ke gharelu nuskhe/बाहर निकले हुये दांत को ब्रेसेस से अंदर और सीधा करने के तरीके। बिना तार सीधा और अंदर करने के 8 घरेलू तरीके जाने टेढ़े मेढ़े aur बाहर निकले दांत को - Complete knowledge of parenting and way of living. But it is entirely based on my personal studies from books and other resources. 

Terms & Conditions: बच्चों के स्वस्थ, परवरिश और पढाई से सम्बंधित लेख लिखें| लेख न्यूनतम 1700 words की होनी चाहिए| विशेषज्ञों दुवारा चुने गए लेख को लेखक के नाम और फोटो के साथ प्रकाशित किया जायेगा| साथ ही हर चयनित लेखकों को KidHealthCenter.com की तरफ से सर्टिफिकेट दिया जायेगा| यह भारत की सबसे ज़्यादा पढ़ी जाने वाली ब्लॉग है - जिस पर हर महीने 7 लाख पाठक अपनी समस्याओं का समाधान पाते हैं| आप भी इसके लिए लिख सकती हैं और अपने अनुभव को पाठकों तक पहुंचा सकती हैं|

Send Your article at contest@kidhealthcenter.com



ध्यान रखने योग्य बाते
- आपका लेख पूर्ण रूप से नया एवं आपका होना चाहिए| यह लेख किसी दूसरे स्रोत से चुराया नही होना चाहिए|
- लेख में कम से कम वर्तनी (Spellings) एवं व्याकरण (Grammar) संबंधी त्रुटियाँ होनी चाहिए|
- संबंधित चित्र (Images) भेजने कि कोशिश करें
- मगर यह जरुरी नहीं है| |
- लेख में आवश्यक बदलाव करने के सभी अधिकार KidHealthCenter के पास सुरक्षित है.
- लेख के साथ अपना पूरा नाम, पता, वेबसाईट, ब्लॉग, सोशल मीडिया प्रोफाईल का पता भी अवश्य भेजे.
- लेख के प्रकाशन के एवज में KidHealthCenter लेखक के नाम और प्रोफाइल को लेख के अंत में प्रकाशित करेगा| किसी भी लेखक को किसी भी प्रकार का कोई भुगतान नही किया जाएगा|
- हम आपका लेख प्राप्त करने के बाद कम से कम एक सप्ताह मे भीतर उसे प्रकाशित करने की कोशिश करेंगे| एक बार प्रकाशित होने के बाद आप उस लेख को कहीं और प्रकाशित नही कर सकेंगे. और ना ही अप्रकाशित करवा सकेंगे| लेख पर संपूर्ण अधिकार KidHealthCenter का होगा|


Important Note: यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो kidhealthcenter.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है।

Most Read

Other Articles

Footer