Category: बच्चों का पोषण

भीगे चने खाने के फायदे भीगे बादाम से भी ज्यादा

By: Salan Khalkho | 3 min read

सुबह उठकर भीगे बादाम खाने के फायेदे तो सबको पता हैं - लेकिन क्या आप को पता है की भीगे चने खाने के फायेदे बादाम से भी ज्यादा है। अगर आप को यकीन नहीं हो रहा है तो इस लेख को जरूर पढिये - आप का भ्रम टूटेगा।

भीगे चने खाने के फायदे benefits of eating gram

अगर आप भी,

हर दिन,

सुबह उठ कर भीगे बादाम खाना पसंद करती हैं - तो इससे अच्छी सेहतमंद आदत और कुछ हो ही नहीं सकता है!

लेकिन

क्या आप को पता है की 

भीगे बादाम से भी ज्यादा फायदेमंद है भीगे हुए चने खाना?

विश्वास नहीं होता! 

अक्सर हम लोगों की फितरत होती है की हम महंगे आहार को - ज्यादा सेहत से भरपूर समझते हैं। 

जैसे की सेब और बदाम को हम लोग जितनी एहमियत देते हैं - शायद अमरुद और मोमफली को उतनी तवज्जो नहीं देते हैं। 

मगर आज हम आप को एक रहस्य की बात बताते हैं - 

मानिये या न मानिये

मगर 

भीगे चने खाने के फायदे भीगे बादाम से भी ज्यादा।

चने में मिलने वाले पोषक तत्त्व 

  • कार्बोहाइड्रेट
  • प्रोटीन
  • नमी
  • फैट
  • फाइबर
  • कैल्शियम
  • आयरन 
  • कई तरह के फायदेमंद विटामिन्स

चने में मिलने वाले यह पोषक तत्व आप के दिमाग को तेज़ करने के साथ ही साथ आप की सुंदरता और चेहरे की रौनक भी बढ़ाते हैं। 

गाओं - देहात में आप ने देखा होगा की लोग अक्सर सुबह उठ कर नाश्ते में भीगे चने कहते हैं। 

क्या यही है उनके स्वस्थ का राज?

गाओं के लोगों को उतने डॉक्टरों के चक्कर नहीं लगाने पड़ते हैं जितना की शहर के लोगों को। फिर भी गाओं के लोग - शहरी लोगों की तुलना में कई साल ज्यादा जीते हैं। 


इसके बहुत से कारण है और उनमें से एक कारण यह भी है की गाओं के लोग हर दिन सुबह उठकर भीगा हुआ चना खाते हैं।  

आइये हम आप को विस्तार से बताते हैं की चने खाने की क्या क्या फायदे हो सकते हैं। 

शरीर की रोग प्रतिरोधक छमता बढ़ती है

चने में घनिष्ट मात्रा में विटामिन, मिनरल्स, क्लोरोफिल और फास्फोरस पाया जाता है। इसीलिए हर दिन सुबह उठ कर भीगे चने खाने से शरीर की रोग प्रतिरोधक छमता (immune system) सुदृण बनती है। इसका मतलब आप का शरीर बाहरी संक्रमण से लड़ने में सक्षम बनता है। 

डायबिटिज (मधुमेह) में है फायदेमंद

डायबिटिज (मधुमेह) के मरीज अगर हर दिन सुबह उठकर, खली पेट,  मात्रा २५ ग्राम भीगा हुआ चने खा लें तो उनके शरीर को डायबिटिज को नियंत्रण में करने में काफी मदद मिलेगी। 


पेट दर्द और कब्ज

अगर आप को पेट दर्द या अक्सर कब्ज की समस्या रहती है तो आप हर दिन सुबह खली पेट चने खाना शुरू कर दें। कुछ ही दिनों में आप को कब्ज से रहत मिल जाएगी। चने में भरपूर मात्रा में fiber होता है जो पाचन तंत्र में मोशन को बेहतर बनाता है। आप चाहें तो चने में स्वाद के लिए नमक, जीरा और अदरक मिला सकते हैं। 

शरीर में स्फूर्ति का संसार

रोज सुबह चने खाने से शरीर स्वस्थ रहता है और दिन भर काम करने के लिए ऊर्जा भी मिलती है। विशेषज्ञों के अनुसार चना इतना फायदेमंद है की यह पुरुषों में होने वाली किसी भी कमजोरी को ख़त्म कर सकता है। 


मोटापा कम करता है

अगर आप मोटापे की समस्या से परेशान हैं तो चना खाना शुरू कर दें। कच्चे चने को पचाना उतना आसान काम नहीं जितना की पकाये हुए चने को। कच्चे चने को पचाने के लिए शरीर को बहुत कैलोरी खर्च करनी पड़ती है। शरीर के मोटापे को कम करने के लिए भी बहुत कैलोरी बर्न करने की आवश्यकता पड़ती है। आप चने खा के वो कैलोरी बर्न कर सकती हैं। दूसरी बात यह है की कच्चा चने को चबाने में पाचन तंत्र को बहुत मेहनत करनी पड़ती है और इस काम मैं बहुत समय लगता है। यानी कच्चे चने खाने के बाद आप को बहुत देर तक भूख नहीं लगेगी। - यह तो बहुत अच्छी बात है। जब आप को भूख ही नहीं लगेगी तो आप बिना-समय के और बिना-मतलब के दिन भर खाते नहीं रहेंगे। चने में अच्छी मात्रा में fiber होता है। यह तो सबको पता है की fiber शरीर में मौजूद कोलेस्टोरल (cholesterol) की मात्रा को कम करता है। जाहीर सी बात है की चना कम से कम तीन तरह से आप के वजन को कम करने में सहायता करता है। 


Terms & Conditions: बच्चों के स्वस्थ, परवरिश और पढाई से सम्बंधित लेख लिखें| लेख न्यूनतम 1700 words की होनी चाहिए| विशेषज्ञों दुवारा चुने गए लेख को लेखक के नाम और फोटो के साथ प्रकाशित किया जायेगा| साथ ही हर चयनित लेखकों को KidHealthCenter.com की तरफ से सर्टिफिकेट दिया जायेगा| यह भारत की सबसे ज़्यादा पढ़ी जाने वाली ब्लॉग है - जिस पर हर महीने 7 लाख पाठक अपनी समस्याओं का समाधान पाते हैं| आप भी इसके लिए लिख सकती हैं और अपने अनुभव को पाठकों तक पहुंचा सकती हैं|

Send Your article at contest@kidhealthcenter.com



ध्यान रखने योग्य बाते
- आपका लेख पूर्ण रूप से नया एवं आपका होना चाहिए| यह लेख किसी दूसरे स्रोत से चुराया नही होना चाहिए|
- लेख में कम से कम वर्तनी (Spellings) एवं व्याकरण (Grammar) संबंधी त्रुटियाँ होनी चाहिए|
- संबंधित चित्र (Images) भेजने कि कोशिश करें
- मगर यह जरुरी नहीं है| |
- लेख में आवश्यक बदलाव करने के सभी अधिकार KidHealthCenter के पास सुरक्षित है.
- लेख के साथ अपना पूरा नाम, पता, वेबसाईट, ब्लॉग, सोशल मीडिया प्रोफाईल का पता भी अवश्य भेजे.
- लेख के प्रकाशन के एवज में KidHealthCenter लेखक के नाम और प्रोफाइल को लेख के अंत में प्रकाशित करेगा| किसी भी लेखक को किसी भी प्रकार का कोई भुगतान नही किया जाएगा|
- हम आपका लेख प्राप्त करने के बाद कम से कम एक सप्ताह मे भीतर उसे प्रकाशित करने की कोशिश करेंगे| एक बार प्रकाशित होने के बाद आप उस लेख को कहीं और प्रकाशित नही कर सकेंगे. और ना ही अप्रकाशित करवा सकेंगे| लेख पर संपूर्ण अधिकार KidHealthCenter का होगा|


Important Note: यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो kidhealthcenter.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है।

Most Read

Other Articles

indexed_240.txt
Footer