Category: स्वस्थ शरीर

नवजात बच्चे के चेहरे से बाल कैसे हटाएँ

By: Salan Khalkho | 5 min read

अधिकांश बच्चे जो पैदा होते हैं उनका पूरा शरीर बाल से ढका होता है। नवजात बच्चे के इस त्वचा को lanugo कहते हैं। बच्चे के पुरे शरीर पे बाल कोई चिंता का विषय नहीं है। ये बाल कुछ समय बाद स्वतः ही चले जायेंगे।

नवजात शिशु के शरीर से बाल हटाने के लिए क्या करें - hot to remove hair from new born baby

माँ बनने की बधाई आपको। 

अब जब ये खुशियों का तोफा आप की कोख से बहार आकर आप के गोद में है तो आप अपने बच्चे के बारे मैं बहुत सी बातों को गौर करेंगी। 

आप ने देखा होगा की आपके बच्चे की त्वचा उतनी मुलायम और प्यारी नहीं प्रतीत हो रही है जितना की अक्सर हम एक छोटे बच्चे के बारे में सोचते हैं। 

जब बच्चे का जन्म होता है तो जन्म के समय बच्चे की त्वचा सुखी और थोड़ी सख्त (flaky) होती है। साथ ही साथ बच्चे के पुरे शरीर पर महीन बाल भी होते हैं।

बच्चे के सर पे बाल तो समझ में आता है मगर पुरे शरीर में बाल, बहुत से माँ या बाप के समझ से बहार होता है। कई माँ या बाप के लिए तो ये एक चिंता का विषय भी होता है।

क्या आप भी इसी लिए चिंतित हैं? (फिकर NOT)

अगर आप पहली बार माँ या बाप बने हैं तो जाहिर है की आप ने भी इस पे गौर किया होगा। हो सकता है की इसी वजह से आप इस article को भी पढ़ रहें हैं। 

चिंता न करें!

ये बाल कुछ समय बाद स्वतः ही चले जायेंगे। 

बच्चे के पुरे शरीर पे बाल कोई चिंता का विषय नहीं है। 

अधिकांश बच्चे जो पैदा होते हैं उनका पूरा शरीर बाल से ढका होता है। नवजात बच्चे के इस त्वचा को lanugo कहते हैं। अंग्रेजी भाषा का यह शब्द Latin word lana से लिए गया है जीका मतलब होता है wool।

इस article में आप पढ़ेंगे

  1. बच्चे के पुरे शरीर पे बाल से सम्बंधित तथ्य
  2. नवजात बच्चे के पुरे शरीर पे बाल क्योँ होते हैं
  3. नवजात बच्चे के पुरे शरीर पे अनचाहे बाल का उपचार
  4. नवजात शिशु के शरीर पे बालों से सम्बंधित समस्या
  5. अगर नवजात बच्चे के शरीर से बाल न जाये तो क्या करें

बच्चे के पुरे शरीर पे बाल से सम्बंधित तथ्य

  1. नवजात बच्चे के पुरे शरीर पे बेहद बारीक़ बाल, मगर ये आसानी से देखे जा सकते हैं। 
  2. शरीर पे यह बाल अधकांश तौर पे पीछे की तरफ, कन्धों, माथे, कान, और बच्चे के चेहरे पे होते हैं। 
  3. कोख में जब यह बच्चा 18 से 20 सप्ताह का होता है तब से उसके शरीर पे यह बाल उगने शुरू हो जाते हैं।
  4. जिन बच्चों का जन्म समय से पहले होता है उनके शरीर पे बाल जयादा देखने को मिलता है। 
  5. जन्म के बाद, कुछ सप्तहा से ले कर कुछ महीने के भीतर ये बाल स्वतः ही गिर कर समाप्त हो जाते हैं। 
  6. बहुत से बच्चों के बाल गर्भ में ही गिरने शुरू हो जाते हैं। जबकि कुछ बच्चों का जन्म उनकी lanugo त्वचा के साथ होता है।

बैरहाल, अगर आप अपने लाडले के पुरे शरीर पे बालों को देख कर चिंतित हैं, तो आराम से बैठिए, एक गरमा गरम चाय या ठंडा जूस पीजिये, और आराम की साँस लीजिये क्योँकि ये कोई चिंता की बात नहीं। कुछ समय बाद आपके बच्चे के बाल अपने आप समाप्त हो जायेंगे। 

नवजात बच्चे के पुरे शरीर पे बाल क्योँ होते हैं

  1. त्वचा पे बाल जिसे Lanugo कहते हैं, इसका एक विशेष कार्य होता है। ये बच्चे की नाजुक त्वचा को गर्भ में सुरक्षित रखता है। 
  2. बिना इस बाल के बच्चे की नाजुक त्वचा को amniotic fluid से हानि हो सकती है।  
  3. पूरी त्वचा पे ये बाल, मोम की एक पतली परत को बनाये रखने में भी मदद करते हैं। मोम की यह परत जिसे vernix caseosa कहा जाता है, बच्चे के पुरे शरीर को, गर्भ मैं, गरम और नमी युक्त रखता है। 
  4. मोम की यह परत बच्चे के जन्म के समय उसे जनम देने में भी मदद करात है। ये बच्चे को आसानी से bony cervix में से पार होने देता है। 

बच्चे के शरीर पे ये बाल अच्छे तो नहीं लगते पैर यह हैं बड़े काम के।  

नवजात के शरीर से रोएं हटाने के 4 आसान उपाय - how to easily remove hair from new born baby

नवजात बच्चे के पुरे शरीर पे अनचाहे बाल का उपचार

हालाँकि बच्चे के शरीर पे यह बाल, तीन-चार महीने में स्वतः ही ख़तम हो जायेंगे, कुछ चीज़ें हैं जिन्हे आप कर सकती हैं ताकि ये बाल (जिनका काम अब समाप्त हो चूका है) जल्द से जल्द आपके बच्चे के कोमल शरीर से हैट जाएँ। 

  • जैतून के तेल (olive oil) से बच्चे के पुरे शरीर को दिन में दो बार मालिश करें।  
  • बसन, हल्दी और दूध के मिश्रण (paste) से बच्चे को नहलाने से पहले पूरा शरीर मल लें। 
  • आटे और बेसन का पतला गूथ लें। इसे बच्चे के पुरे शरीर पे मल लें। बेहद आराम से करें ये काम। ध्यान रहे की बच्चे को तकलीफ न हो। ऐसे करने से बालों की जड़ मुलायम हो जाएगी और बाल खुद बा खुद गिर जायेंगे। 
  • मालिश करने के लिए बादाम और दूध का मिश्रण भी अच्छा recipe है। 

मालिश से बच्चे के शरीर से सिर्फ बाल ही नहीं निकलते बल्कि माँ और बच्चे में घनिष्ठता भी स्थापित होती है। बस ध्यान रहे की मालिश बहुत नरम हातों से करें। 

नवजात शिशु के शरीर पे बालों से सम्बंधित समस्या

कई बार नवजात शिशु के शरीर पे ये बाल चिंता का विषय भी हो सकते हैं। ये तब होता है जब बच्चे के शरीर से ये बाल जिन्हे lanugo कहते हैं, पूरी तरह न झड़े या फिर और भी घने हो जाएँ। 

  1. इस स्थिति का मतलब है की बच्चे को  congenital adrenal hyperplasia (CAH) है। जिसका मतलब होता है की बच्चे का शरीर एक विशेष किस्म का hormone नहीं बना पा रहा है जिसे cortisol या aldosterone कहते हैं। 
  2. ऐसे स्थिति मैं आगे चल कर बच्चे का शरीर पुरुष सम्बंधित hormore जिसे androgen कहते हैं, ज्यादा बनाने लगता है जिसकी वजह से बाल और भी ज्यादा घने हो जाते हैं। 
  3. ये समस्या नवजात लड़के और लड़की दोनों के पाए जाते हैं। 
  4. यह समस्या (CAH) बच्चे के खून में नमक की कमी (low sodium) भी पैदा कर देता है। ऐसा होने पे बच्चे के ह्रदय पे बुरा असर पड़ता है। 

अगर नवजात बच्चे के शरीर से बाल न जाये तो क्या करें

कुछ महीने बाद बाल स्वतः ही चले जाते हैं। अगर आपके बच्चे के शरीर से बाल 6 month बाद भी न ख़तम हो तो यह चिंता का विषय हो सकता है। आपको तुरंत डॉक्टरी सलाह लेनी चाहिए। 

  1. अगर समस्या CAH से सम्बंधित है तो समय पे इलाज बेहद जरुरी है।
  2. अगर आप का बच्चा CAH की समस्या से जूझ रहा है तो उसे दवा के रूप में डॉक्टर कुछ hormone दे सकता है जो बच्चे के शरीर में balance बना के रखे और किसी भी खतरे वाली स्थिति से बच्चे को सुरक्षित रखे।    
  3. अधिकांश माँ एवं बाप के लिए एक ही विकल्प है की इंतज़ार करें की बच्चे के बाल स्वतः ही झड़ जाएँ। एक बार ये बाल बच्चे के शरीर से गिर जायेंगे तो फिर नए बाल आएंगे जो की बहुत बारीक़ होंगे और दिखाई नहीं देंगे। 

आप अपने experience को हमारे साथ बाँट सकते हैं। हम जानना चाहेंगे की अपने अपने बच्चे के शरीर के बाल के लिए क्या किया। अगर आपके पास कोई मजेदार टिप्स है तो वो भी आप हमारे साथ बाँट सकते हैं।

Terms & Conditions: बच्चों के स्वस्थ, परवरिश और पढाई से सम्बंधित लेख लिखें| लेख न्यूनतम 1700 words की होनी चाहिए| विशेषज्ञों दुवारा चुने गए लेख को लेखक के नाम और फोटो के साथ प्रकाशित किया जायेगा| साथ ही हर चयनित लेखकों को KidHealthCenter.com की तरफ से सर्टिफिकेट दिया जायेगा| यह भारत की सबसे ज़्यादा पढ़ी जाने वाली ब्लॉग है - जिस पर हर महीने 7 लाख पाठक अपनी समस्याओं का समाधान पाते हैं| आप भी इसके लिए लिख सकती हैं और अपने अनुभव को पाठकों तक पहुंचा सकती हैं|

Send Your article at contest@kidhealthcenter.com



ध्यान रखने योग्य बाते
- आपका लेख पूर्ण रूप से नया एवं आपका होना चाहिए| यह लेख किसी दूसरे स्रोत से चुराया नही होना चाहिए|
- लेख में कम से कम वर्तनी (Spellings) एवं व्याकरण (Grammar) संबंधी त्रुटियाँ होनी चाहिए|
- संबंधित चित्र (Images) भेजने कि कोशिश करें
- मगर यह जरुरी नहीं है| |
- लेख में आवश्यक बदलाव करने के सभी अधिकार KidHealthCenter के पास सुरक्षित है.
- लेख के साथ अपना पूरा नाम, पता, वेबसाईट, ब्लॉग, सोशल मीडिया प्रोफाईल का पता भी अवश्य भेजे.
- लेख के प्रकाशन के एवज में KidHealthCenter लेखक के नाम और प्रोफाइल को लेख के अंत में प्रकाशित करेगा| किसी भी लेखक को किसी भी प्रकार का कोई भुगतान नही किया जाएगा|
- हम आपका लेख प्राप्त करने के बाद कम से कम एक सप्ताह मे भीतर उसे प्रकाशित करने की कोशिश करेंगे| एक बार प्रकाशित होने के बाद आप उस लेख को कहीं और प्रकाशित नही कर सकेंगे. और ना ही अप्रकाशित करवा सकेंगे| लेख पर संपूर्ण अधिकार KidHealthCenter का होगा|


Important Note: यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो kidhealthcenter.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है।

Most Read

Other Articles

indexed_80.txt
Footer