Category: शिशु रोग

शिशु को एक्जिमा (eczema) है - लक्षण और इलाज

By: Salan Khalkho | 4 min read

एक्जिमा (eczema) एक ऐसी स्थिति है जिसमे बच्चे के शरीर की त्वचा पे चकते पड़ जाते हैं। त्वचा बहुत शुष्क हो जाती है। त्वचा पे लाली पड़ जाती है और त्वचा पे बहुत खुजली होती है। घरेलु इलाज से आप अपने शिशु के एक्जिमा (eczema) को ख़त्म कर सकती हैं।

अगर शिशु को है एक्जिमा (eczema) तो - लक्षण और इलाज

नवजात शिशु में एक्जिमा (eczema) के लक्षण जन्म के कुछ महीनो के बाद से ही देख जा सकते है। थोड़ी सी स्वधानी के साथ आप अपने बच्चे के शरीर पे एक्जिमा (eczema) के लक्षण को रोक सकती हैं और इसका सही इलाज भी कर सकती हैं। 

एक्जिमा (eczema) बच्चे की गर्दन, गाल, पीठ एयर हाथ और पैर के घुटने पे अपना प्रभाव दिखा सकता है। 

बच्चों में एक्जिमा (eczema) हमेशा के लिए नहीं रहता है और समय के साथ यह बिना इलाज के भी पूरी तरह समाप्त हो जाता है। 

बच्चों में एक्जिमा (eczema) के कारण reason for eczema in children

बच्चों में एक्जिमा (eczema) कई कारणों से हो सकता है:

  1. एक्जिमा (eczema) को आनुवंशिकी बीमारी भी माना जाता है। यानि की अगर बच्चे की माँ या बाप को भी कभी एक्जिमा (eczema) हुवा हो तो बच्चे को होने की सम्भावना रहती है। 
  2. दूसरा कारण यह है की अगर बच्चे की त्वचा पे काफी नमी हो और उसपे जीवाणु (bacteria) पनपने लगे हों तो। 
  3. एक्जिमा (eczema) इस वजह से भी हो सकता है अगर बच्चे की त्वचा पे जरुरत के अनुसार fat cells न हो तो बच्चे की त्वचा बहुत सूखी हो जाएगी और उनमे एक्जिमा (eczema) के लक्षण भी दिखने लगेंगे। 


कारण जिनकी वजह से एक्जिमा (eczema) के लक्षण what causes eczema

कुछ कारण जिनकी वजह से एक्जिमा (eczema) के लक्षण और प्रभावी हो जाते हैं। 

  1. सूखी त्वचा - अपने शिशु की त्वचा की नमी बनाये रखने के लिए उसकी त्वचा पे moisturizer लगाएं। 
  2. सूखी जल-वायु - शिशु को बहुत देर तक AC वाले कमरे में न रखें। 
  3. कड़क साबुन या perfume लगाने से भी बच्चे में एक्जिमा (eczema) उभर सकता है।
  4. कभी-कभी किसी विशेष आहार को खाने से भी शिशु को एक्जिमा (eczema) हो जाता है। 

अगर आप के बच्चे की त्वचा पे कभी एक्जिमा (eczema) की लक्षण दिखे तो डॉक्टर के पास तुरंत जाने की आवश्यकता नहीं है। कुछ घरेलु उपाए से आप अपने शिशु के एक्जिमा (eczema) की समस्या को समाप्त कर सकते हैं। अगर फिर भी ठीख ना हो तभो अपने बच्चे को डॉक्टर के पास लेके जाएँ। 

शिशु में एक्जिमा (eczema) के घरेलू इलाज home remedy to cure eczema in children

शिशु में एक्जिमा (eczema) के घरेलू इलाज 

  1. एक्जिमा (eczema) के लक्षण दिखने पे अपने शिशु को हलके गरम पानी से नहलाएं। 
  2. नहलाने के लिए moisturising soap का इस्तेमाल करें।
  3. शिशु को नहलाने के बाद अच्छी तरह उअके शरीर को moisturise करें। Moisturise करने के लिए अच्छे lotion ये baby oil का इस्तेमाल करें। 
  4. बच्चे को ढीले-ढाले आराम दायक कपडे पहनाएं। बच्चे को ऐसे कपडे ना पहनाये जिससे की उसे खुजली हो। 
  5. नहलाने के बाद शिशु की त्वचा को सूखने के लिए रगड़ें नहीं बल्कि तौलिये की मदद से त्वचा पे थपकी दें के सुखाएं। 
  6. एक्जिमा (eczema) की वजह से शिशु की त्वचा पे खुजली होगी। खुजली होगी तो बच्चा अपने शरीर को नाखून से खुजलायेगा। बच्चे के नाखून को निरंतर काटते रहें ताकि खजुलाने से बच्चे की त्वचा पे खरोंच ना पड़े। 
  7. बच्चे की त्वचा पे ऐसे cream का इस्तेमाल करें जिससे बच्चे को खुजली कम हो। 
  8. अगर आप के शिशु की त्वचा एक सप्ताह बाद भी ठीक ना हो तो शिशु से सम्बंधित डॉक्टर से मिले और डॉक्टर की राय लें। 

prevent children from eczema एक्जिमा (eczema) से बचाव

एक्जिमा (eczema) से बचाव

बचाव सबसे बढ़िया इलाज है। अपने शिशु को जीतन ज्यादा हो सके स्तनपान कराएं ताकी आप का शिशु एक्जिमा (eczema) की स्थिति से बचा रहे। बच्चे को हर उस आहार से दूर रखें जिससे की बच्चे को एक्जिमा (eczema) होने की सम्भावना हो।  शिशु के जन्म से पहले जब आप गर्भवती हों तो probiotics आहार लें। बच्चे की नाखूनों को समय-समय पे काटते रहें। 

Terms & Conditions: बच्चों के स्वस्थ, परवरिश और पढाई से सम्बंधित लेख लिखें| लेख न्यूनतम 1700 words की होनी चाहिए| विशेषज्ञों दुवारा चुने गए लेख को लेखक के नाम और फोटो के साथ प्रकाशित किया जायेगा| साथ ही हर चयनित लेखकों को KidHealthCenter.com की तरफ से सर्टिफिकेट दिया जायेगा| यह भारत की सबसे ज़्यादा पढ़ी जाने वाली ब्लॉग है - जिस पर हर महीने 7 लाख पाठक अपनी समस्याओं का समाधान पाते हैं| आप भी इसके लिए लिख सकती हैं और अपने अनुभव को पाठकों तक पहुंचा सकती हैं|

Send Your article at contest@kidhealthcenter.com



ध्यान रखने योग्य बाते
- आपका लेख पूर्ण रूप से नया एवं आपका होना चाहिए| यह लेख किसी दूसरे स्रोत से चुराया नही होना चाहिए|
- लेख में कम से कम वर्तनी (Spellings) एवं व्याकरण (Grammar) संबंधी त्रुटियाँ होनी चाहिए|
- संबंधित चित्र (Images) भेजने कि कोशिश करें
- मगर यह जरुरी नहीं है| |
- लेख में आवश्यक बदलाव करने के सभी अधिकार KidHealthCenter के पास सुरक्षित है.
- लेख के साथ अपना पूरा नाम, पता, वेबसाईट, ब्लॉग, सोशल मीडिया प्रोफाईल का पता भी अवश्य भेजे.
- लेख के प्रकाशन के एवज में KidHealthCenter लेखक के नाम और प्रोफाइल को लेख के अंत में प्रकाशित करेगा| किसी भी लेखक को किसी भी प्रकार का कोई भुगतान नही किया जाएगा|
- हम आपका लेख प्राप्त करने के बाद कम से कम एक सप्ताह मे भीतर उसे प्रकाशित करने की कोशिश करेंगे| एक बार प्रकाशित होने के बाद आप उस लेख को कहीं और प्रकाशित नही कर सकेंगे. और ना ही अप्रकाशित करवा सकेंगे| लेख पर संपूर्ण अधिकार KidHealthCenter का होगा|


Important Note: यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो kidhealthcenter.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है।

Most Read

Other Articles

indexed_240.txt
Footer