Category: बच्चों की परवरिश

बच्चों में नई और बेहतर स्टडी हैबिट्स का विकास करें

By: Admin Team | 4 min read

स्कूल शुरू हो गया है। अपको अपने बच्चे को पिछले साल से और अच्छा करने के लए प्रेरित करना है। आदतें ही हमें बनाती या बिगाडती हैं। अच्छी आदतें हमें बढ़िया अनुशासन और सफलता की ओर ले जातीं हैं। बच्चे बड़े होकर भी अच्छा कर सकें, इसलिए उन्हें बचपन से ही सही गुणों से अनुकूलित होना ज़रूरी है

ये हैं कुछ तरीके जिनकी सहायता से आप अपने बच्चों में नई और बेहतर स्टडी हैबिट्स का विकास कर सकेंगी: 

1. पढ़ने का समय 

ज़्यादा बच्चे तभी पढने बैठते हैं जब बिलकुल ज़रूरी हो जाता है। नहीं तो किताब भी न छुयें। तो पहला काम है पढ़ने का समय तय करना। इस तय समय पर बच्चा किताब लेकर नोट्स बनाये, भले ही एग्जाम पास न हो। इससे बच्चे में पढ़ने का चाव जागेगा जैसे होमवर्क अच्छे से पूरा करना और समय पर सब्मिट करना, एग्जाम का समय निकट आने से पहले ही तैयारी करना और जम कर मेहनत करके अच्छे अंक प्राप्त करना।

2. कैलेंडर और टाइम टेबल फॉलो करने की आदत 

बच्चों के पास प्रोजेक्ट्स ज़्यादा होंते है तो वो भूलने लगते हैं कि कब क्या जमा करना है, उनकी सबमिशन डेट्स मिक्स होने लगते हैं। इसलिए उन्हें बड़ा सा कैलेंडर शीट दें जो वो टेबल के पास या जल्दी नज़र पड़ने वाली जगह पर लगा सकें। इससे उनकी प्लानिंग भी मज़बूत होती है।

3. नोट्स बनाना 

बच्चों को नोट्स बनाना सिखायें, इससे उन्हें समझ में भी ज़्यादा आयेगा कि ऐसा आगे दोहराने में भी उनके लिए ही आसानी होगी। नोट्स बनाने से एग्जाम्स की भी तैयारी आराम से हो जाएगी।

4. घर में पढ़ाई का माहौल बनाएं 

बच्चों के लिए पढ़ाई का सही माहौल बनाना ज़रूरी है और माता-पिता में से एक को साथ लगना पड़ेगा। आप खुद डाइनिंग टेबल के पास बैठकर अपने लैपटॉप पर काम करें, कोई किताब पढ़ें और बगल में बच्चों को पढ़ने बिठायें। टीवी बंद रखें और सभी मन लगाकर अपना काम करतें रहें। यकीन मानें- बच्चों का पढ़ाई पर फोकस बढ़ जायेगा।

5. लगन दिखायें 

जितना ही आप पढ़ाई के समय बच्चों से जुड़े रहेंगे, बच्चा उतना ही अच्छा करेगा। चाहे आप कितने भी ट्यूशन लगवा लो, कोचिंग में भेजो, अच्छा स्टडी रूम बनवा दो, ये सब उतना काम नहीं आयेगा जितना आपका लगन के साथ बच्चे से जुड़ना। आप साथ समय बितायें, बच्चे से पढ़ाई की प्रोग्रेस पता करते रहें, और उनकी प्राब्लम में उनकी मदद करने किए हमेशा पास रहें और उन्हें सही रास्ता दिखातें रहें। ये बच्चे का फोकस बनाने के लिए पर्याप्त होगा।

कोई भी काम 1 महीने लगातार करने पर आदत बन जाती है। आप पढ़ाई की आदत धीरे-धीरे लगायें। एक नयी आदत लगा कर सुधार देंखे फिर बच्चे को आगे सलाह दें। यही अच्छी आदतें मिलकर ज़िंदगी में आगे सफलता दिलाने में कामयाब होगी।

Terms & Conditions: बच्चों के स्वस्थ, परवरिश और पढाई से सम्बंधित लेख लिखें| लेख न्यूनतम 1700 words की होनी चाहिए| विशेषज्ञों दुवारा चुने गए लेख को लेखक के नाम और फोटो के साथ प्रकाशित किया जायेगा| साथ ही हर चयनित लेखकों को KidHealthCenter.com की तरफ से सर्टिफिकेट दिया जायेगा| यह भारत की सबसे ज़्यादा पढ़ी जाने वाली ब्लॉग है - जिस पर हर महीने 7 लाख पाठक अपनी समस्याओं का समाधान पाते हैं| आप भी इसके लिए लिख सकती हैं और अपने अनुभव को पाठकों तक पहुंचा सकती हैं|

Send Your article at contest@kidhealthcenter.com



ध्यान रखने योग्य बाते
- आपका लेख पूर्ण रूप से नया एवं आपका होना चाहिए| यह लेख किसी दूसरे स्रोत से चुराया नही होना चाहिए|
- लेख में कम से कम वर्तनी (Spellings) एवं व्याकरण (Grammar) संबंधी त्रुटियाँ होनी चाहिए|
- संबंधित चित्र (Images) भेजने कि कोशिश करें
- मगर यह जरुरी नहीं है| |
- लेख में आवश्यक बदलाव करने के सभी अधिकार KidHealthCenter के पास सुरक्षित है.
- लेख के साथ अपना पूरा नाम, पता, वेबसाईट, ब्लॉग, सोशल मीडिया प्रोफाईल का पता भी अवश्य भेजे.
- लेख के प्रकाशन के एवज में KidHealthCenter लेखक के नाम और प्रोफाइल को लेख के अंत में प्रकाशित करेगा| किसी भी लेखक को किसी भी प्रकार का कोई भुगतान नही किया जाएगा|
- हम आपका लेख प्राप्त करने के बाद कम से कम एक सप्ताह मे भीतर उसे प्रकाशित करने की कोशिश करेंगे| एक बार प्रकाशित होने के बाद आप उस लेख को कहीं और प्रकाशित नही कर सकेंगे. और ना ही अप्रकाशित करवा सकेंगे| लेख पर संपूर्ण अधिकार KidHealthCenter का होगा|


Important Note: यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो kidhealthcenter.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है।

शिशु-में-कब्ज-की-समस्या-और-घरेलु-उपचार
नवजात-शिशु-और-बच्चों-के-स्वस्थ-के-लिए-UHT-Milk
बच्चों-के-टेड़े-मेढे-दांत-crooked-teeth-remedy
अंगूठा-चूसने-से-शिशु-के-दांत-ख़राब
पराठे-से-शिशु-बीमार-ग्लूटेन-एलर्जी
शिशु-के-दांतों-के-बीच-गैप-डायस्टेमा-कारण-और-उपचार
बच्चे-सोते-हुए-अपने-दातों-को-क्योँ-पिसते-हैं---इलाज
कैल्शियम-से-भरपूर-आहार-जो-बनायें-बच्चों-को-मजबूत
मिसकैरेज---लक्षण,-कारण-और-बचाव
हाई-ब्लड-प्रेशर-इन-प्रेगनेंसी
पोक्सो-एक्ट-POCSO
UHT-Milk-शिशु-को-एक्जिमा-से-बचाता-है
क्या-UHT-Milk-ताजे-दूध-से-बेहतर-है
क्या-12-महीने-के-शिशु-को-full-fat-UHT-milk-दिया-जा-सकता-है
क्या-UHT-Milk-को-उबालने-की-आवश्यकता-है
UTH-milk-को-कितने-दिनों-तक-सुरक्षित-रखा-जा-सकता-है
शिशुओं-में-कब्ज-की-समस्या
बच्चों-के-दांत-टेढ़े-crooked-teeth-prevention
बच्‍चों-में-दांत-काटने-की-आदत-को-दूर-करने-का-आसन-तरीका
बच्चों-में-सब्जियां-के-प्रति-रूचि-इस-तरह-जगाएं
सिजेरियन-की-वजह-से-मौत
गर्भावस्था-में-खतरों-से-बचाए-ये-महत्वपूर्ण-विटामिन-और-सप्लीमेंट
जानलेवा-हो-सकता-है-गर्भावस्था-में-Vitamin-B12-का-ना-लेना
गर्भावस्था-में-Vitamin-E-ना-लेना-खतरनाक-हो-सकता-है-
गर्भावस्था-में-Vitamin-A-की-कमी-के-खतरनाक-परिणाम-
गर्भावस्था-में-विटामिन-C-शिशु-के-लिए-घातक-हो-सकता-है
गर्भावस्था-में-विटामिन-A-से-सम्बंधित-सावधानियां-और-खतरे
गर्भावस्था-में-Vitamin-D
शिशु-कुपोषण
6-महीने-के-बच्चे-का-आहार

Most Read

बालों-का-झाड़ना
बालों-का-झाड़ना
सिजेरियन-डिलीवरी-के-बाद-देखभाल-के-10-तरीके
सिजेरियन-डिलीवरी-के-बाद-खान-पान-(Diet-Chart)
सिजेरियन-डिलीवरी-के-बाद-मालिश
बच्चे-के-दातों-के-दर्द
डिलीवरी-के-बाद-पीरियड
नार्मल-डिलीवरी-के-बाद-बार-बार-यूरिन-पास-की-समस्या
कपडे-जो-गर्मियौं-में-बच्चों-को-ठंडा-व-आरामदायक-रखें-
बच्चों-को-कुपोषण-से-कैसे-बचाएं
शिशु-में-फ़ूड-पोइजन-(Food-Poison)-का-घरेलु-इलाज
बच्चों-में-विटामिन-और-मिनिरल-की-कमी
शिशु-में-चीनी-का-प्रभाव
विटामिन-बच्चों-की-लम्बाई-के-लिए
विटामिन-डी-remedy
विटामिन-डी-की-कमी
बढ़ते-बच्चों-के-लिए-पोष्टिक-आहार
विटामिन-ई-बनाये-बच्चों-को-पढाई-में-तेज़
कीवी-के-फायदे
बढ़ते-बच्चों-के-लिए-शीर्ष-10-Superfoods
शिशु-के-लिए-विटामिन-डी-से-भरपूर-आहार
प्रेगनेंसी-में-वरदान-है-नारियल-पानी
किवी-फल-के-फायदे-और-गुण-बच्चों-के-लिए
शिशु-में-वायरल-फीवर
टेढ़े-मेढ़े-दांत-बिना-तार-के-सीधा
बच्चों-में-पोषक-तत्वों-की-कमी-के-10-लक्षण
चेचक-का-दाग
शिशु-में-Food-Poisoning-का-इलाज---घरेलु-नुस्खे
बच्चों-की-त्वचा-पे-एक्जीमा-का-घरेलु-इलाज
बच्चों-के-मसूड़ों-के-दर्द-को-ठीक-करने-का-तरीका
छोटे-बच्चों-में-अस्थमा-का-इलाज
शिशु-के-पुरे-शारीर-पे-एक्जीमा
जलशीर्ष-Hydrocephalus
बच्चे-के-दाँत-निकलते
शिशु-के-दांतों-में-संक्रमण-के-7-लक्षण
बच्चों-में-दमा-का-घरेलु-उपाय,-बचाव,-इलाज-और-लक्षण
बच्चों-में-माईग्रेन-के-लक्षण-और-घरेलु-उपचार
बच्चों-में-बाइपोलर-डिसऑर्डर-
बाइपोलर-डिसऑर्डर-(bipolar-disorder)
बच्चा-बिस्तर-से-गिर
क्या-बच्चे-बाइपोलर-डिसऑर्डर-(Bipolar-Disorder)-
शिशु-में-बाइपोलर-डिसऑर्डर
गर्भधारण-कारण,-लक्षण-और-इलाज
त्वचा-की-झुर्रियां-कम-करें-घरेलु-नुस्खे
गर्भावस्था-की-खुजली
शिशु-में-कब्ज-की-समस्या-का-घरेलु-उपचार-
आहार-जो-माइग्रेन-के-दर्द-को-बढ़ाते-हैं
शिशु-की-तिरछी-आँख-का-घरेलु-उपचार
शिशु-की-आंखों-में-काजल-या-सुरमा-हो-सकता-है-खतरनाक-
शिशु-का-घुटनों-के-बल-चलने-के-फायेदे

Other Articles

Footer