Category: शिशु रोग

बच्चों के टेड़े मेढे दांत इस तरह ठीक करें - (crooked teeth remedy)

By: Salan Khalkho | 11 min read

बच्चो में दांत सम्बंधी समस्या को लेकर अधिकांश माँ बाप परेशान रहते हैं। थोड़ी से सावधानी बारात कर आप अपने बच्चों के टेढ़े-मेढ़े दांत को घर पे ही ठीक कर सकती हैं। चेहरे की खूबसूरती को बढ़ाने के लिए दांतों का बहुत ही महत्व होता है। इसीलिए अगर बच्चों के टेढ़े-मेढ़े दांत हों तो माँ बाप का परेशान होना स्वाभाविक है। बच्चों के टेढ़े-मेढ़े दांत उनके चेहरे की खूबसूरती को ख़राब कर सकते हैं। इस लेख में हम आप को बताएँगे कुछ तरीके जिन्हें अगर आप करें तो आप के बच्चों के दांत नहीं आयेंगे टेढ़े-मेढ़े। इस लेख में हम आप को बताएँगे Safe Teething Remedies For Babies In Hindi.

what causes crooked teeth in children

इस लेख में: 

  1. बच्चों के टेढ़े-मेढ़े दांत को ठीक करने के उपये
  2. बच्चों के दांत को टेढ़े-मेढ़े (crooked teeth)होने से बचाएं - Child teeth care tips in hindi
  3. बच्चों के टेढ़े-मेढ़े दांत (crooked teeth) का इलाज
  4. बचपन में टेढ़े-मेढ़े दांत (crooked teeth) का इलाज
  5. पक्के दांत का टेढ़े-मेढ़े(crooked) होना
  6. अगर आप के शिशु के दांत टेढ़े-मेढ़े(crooked) हों तो यह करें।
  7. बच्चों के टेढ़े-मेढ़े (crooked) होने पे क्योँ डक्टर से मिलने की आवश्यकता है।

बच्चों के टेड़े मेढे दांत इस तरह ठीक करें crooked teeth remedy

बच्चों के टेढ़े-मेढ़े दांत को ठीक करने के उपये

बच्चों के दांत शुरुआती दौर में कई तरह के छोटी-मोटी परेशानियां से गुजरते है जिनसे परेशान होने की बिलकुल भी जरुरत नहीं है। अगर आप के बच्चों के दांत टेढ़े-मेढ़े हो गए हैं तो उसका इलाज हम आप को इस लेख में बताएँगे। 

लेकिन उससे पहले आप के लिए यह जानना बेहद जरुरी है की आप को कौन कौन से सावधानी बरतने की आवश्यकता ही जिससे आप के बच्चे के दांत ख़राब ही ना हो। 

अगर आप के बच्चों के दांत सुन्दर दिखेंगे तो आप के बच्चे भी सुंदर और स्मार्ट दिखेंगे। थोड़ी सी सावधानी बारात कर बच्चों के दांतों को सुन्दर रखना आसन है लेकिन अगर आप केर बच्चों के दांत टेढ़े-मेढ़े (crooked teeth) हो जाएँ तो उन्हें ठीक करना ज्यादा कठिन होता है। 

चलिए देखते हैं की आप किस तरह से बच्चों के दांत को टेढ़े-मेढ़े (crooked teeth)होने से बचा सकती हैं। बच्चो के टेढ़े-मेढ़े दांत या जबड़ों के छोटे-बड़े आकार की समस्या को ऑर्थोडॉन्टिक प्रॉब्लम कहते हैं।

बच्चों के टेढ़े-मेढ़े दांत को ठीक करने के उपये

बच्चों के दांत को टेढ़े-मेढ़े (crooked teeth)होने से बचाएं - Child teeth care tips in hindi 

  • माँ बाप अक्सर छोटी उम्र में बच्चों को डेंटिस्ट के पास ले जाने से हिचकिचाते हैं। लेकिन सच बात तो यह है की बच्चों के दांत सम्बंधी समस्या को बचपन में ज्यादा सरलता से सुलझाया जा सकता है। अगर आप के बच्चे के दांत सही दिशा में या फिर सही तरह से नहीं उग रहे हैं तो आप अपने बच्चे को तुरंत किसी अच्छे दांतों के डोक्टर के पास लेके जाएँ। अपने बच्चों के दांतों पे आप को शुरू से ही ध्यान देने की आवश्यकता है। 
  • कुछ बच्चों को अपने दांतों से अपने होटों को काटने की या फिर अंगूठा चूसने की आदत पड़ जाती है। अगर आप अपने बच्चे में यह आदत देखें तो आप को उसकी इस आदत को छुड़ाने के लिए हर संभव प्रयास करना चाहिए। अधिकांश बच्चों में टेढ़े-मेढ़े (crooked teeth) होने की वजह उनकी अंगूठा चूसने की आदत होती है। बच्चों के अंगूठा चूसने की आदत को छुटाना बहुत ही आसन है अगर आप यह तरीका अपनाएं। 
  • अगर बच्चों के दांत टेढ़े-मेढ़े (crooked teeth)हो गए हैं तो डेंटिस्ट (दांतों के डोक्टर) दातों में ब्रेसिज लगवाने की सलाह देते हैं। लेकिन सच मने तो ब्रेसिज लगवाने से छोटी उम्र में कोई फायेदा नहीं होता है। अगर बच्चे छोटे हैं तो जितना संभव हो सके बच्चों के दातों में ब्रेसिज लगवाने से बचें। अगर बच्चों के दांत बड़े हैं तो ध्यान रखें तो आप के बच्चे मीठा या च्युइंगम का सेवन ना करें। इनके सेवन से दांतों के टेढ़े-मेढ़े (crooked teeth)होने की सम्भावना बढ़ जाती है। 
  • कुछ बच्चों के साथ ऐसी भी घटनाएँ होती है जहाँ उनके दूध के दांत टूटने से पहले ही पक्के दांत निकलने शुरू हो जाते हैं। यह भी टेढ़े-मेढ़े (crooked teeth) दांत होने की मुख्या वजह है। यह ऐसी समस्या है जहाँ बच्चों के दूध के दांत नहीं टूटने की वजह से पक्के दांत को नकलने के लिए पर्याप्त जगह नहीं मिल पता है और दांत टेढ़े-मेढ़े (crooked teeth) होने लगते हैं। अगर आप का शिशु ऐसी परिस्थिति से गुजर रहा है तो आप अपने बच्चे को डेंटिस्ट (दांतों के डोक्टर) के पास लेकर जाएँ ताकि आप आप के बच्चे के दूध के दांत को निकला जा सके। 

permanent teeth growing in crooked टेढ़े-मेढ़े दांत

बच्चों के टेढ़े-मेढ़े दांत (crooked teeth) का इलाज

अगर आप के बच्चे के दांत टेढ़े-मेढ़े दांत (crooked teeth) हो गए हैं तो आप उन्हें इलाज दुआर सफलता पूर्वक ठीक कर सकती है।  बच्चों के टेढ़े-मेढ़े दांत (crooked teeth) को ठीक करने के लिए बे्रसेज का इस्तेमाल किया जाता है। 

आहार आप का बच्चा छोटा है तो इस प्रक्रिया की कोई आवश्यकता नहीं है। ऊपर जो मैंने आप को सावधानियां बतलायीं हैं अगर आप उनका पालन करें तो समय के साथ आप के बच्चे के  टेढ़े-मेढ़े (crooked teeth) दांत  स्वता ठीक हो जायेंगे। 

बे्रसेज  के दुवारा बच्चे के दांतों को ठीक करने की आवश्यकता तब पड़ती है जब बच्चे आठ साल (eight years) से बड़े हो जाएँ। बे्रसेज  में विभिन्न तरह के मेटेलिक या सेरेमिक ब्रेकेट और तारों का प्रयोग होता है। 

बे्रसेज और तारो, बच्चे के दांत तो दबाव बनाकर अपनी सही जगह पे ले जाने का प्रयास करते हैं। कुछ समय तक जब दांत अपनी सही जगह पे बना रहता है तो वह स्थायी रूप से उसी जगह पे settle हो जाता है। 

टेढ़े-मेढ़े दांत (crooked teeth) को ठीक करने के लिए बे्रसेज का इस्तेमाल किसी भी उम्र में किया जा सकता है। इसे ठीक करने के लिए बे्रसेज को दांतों पे एक से डेढ़ साल तक के लिए  फिक्स कर दिया जाता है ताकि दांत या जबड़ा सीधा हो सके। 

कुछ बहुत ही दुर्लभ घटनाओं में अगर बे्रसेज के इस्तेमाल के बाद भी अगर दांत ठीक ना हों तो फिर सर्जिकल procedure का सहारा लिया जा सकता है। इस प्रक्रिया को सेजाइटल स्प्लिट ऑस्टियोटॉमी (एसएसओ) या डिस्ट्रेक्शन ऑस्टियोजिनेसिस सर्जरी कहते हैं।

बचपन में टेढ़े-मेढ़े दांत (crooked teeth) का इलाज

अगर आप का शिशु छोटा है तो आप को ज्यादा इस बारे में चिंता करने की आवश्यकता नहीं है। क्यूंकि अगर आप के बच्चे के दूध के दांत टेढ़े-मेढ़े दांत (crooked teeth) हैं तो इसका मतलब यह नहीं ही आप के बच्चे के पक्के दांत  भी  टेढ़े-मेढ़े होंगे। 

how to prevent crooked teeth टेढ़े-मेढ़े दांत

बच्चे के जन्म के शुरुआती दिनों में जबड़े की हड्डीयौं में  इतनी बदलाव आते हैं की जब समय आता है की आप के बच्चे के पक्के दांत निकले तब तक बहुत सी समस्याएँ खुद बा खुद ही समाप्त हो जाती हैं। 

लेकिन इस का मतलब यह नहीं है की आप बच्चों के दातों से सम्बंधित कोई भी 'सावधानी नहीं बरतें' या फिर डेंटिस्ट (दांतों के डोक्टर) से ना मिलें। 

अगर आप के बच्चे के दांत शुरुआती दिनों से ही टेढ़े-मेढ़े नकल रहे हैं तो आप को डेंटिस्ट (दांतों के डोक्टर) से जरुर मिलना चाहिए और बताये गए उपचार को करना भी चाहिए साथ ही सभी तरह ही स्वधानियौं को भी बरतना चाहिए ताकि जब पक्के दांत निकले तो वे सुन्दर हों और सही दिशा में उगे। 

crooked teeth causes टेढ़े-मेढ़े दांत

पक्के दांत का टेढ़े-मेढ़े(crooked) होना 

लगभग सभी पक्के दांत निकलते वक्त थोड़े-मोड़े, टेढ़े-मेढ़े(crooked) होते ही हैं। बाद में चलकर ये खुद ही ठीक भी हो जाते हैं। लकिन अगर पक्के दांत कुछ ज्यादा ही टेढ़े-मेढ़े(crooked) निकल रहे हैं तो आप को सावधान रहना चाहिए क्यूंकि कभी कभी इसके पीछे की वजह गंभीर भी हो सकती है। तो समस्या के बढ़ने से पहले ही उसका इलाज कर देना सबसे उपयुक्त तरीका है बच्चों के टेढ़े-मेढ़े(crooked) दांतों की समस्या से निपटने का। 

bottom teeth growing in crooked बच्चों के टेढ़े-मेढ़े दांत

अगर आप के शिशु के दांत टेढ़े-मेढ़े(crooked) हों तो यह करें।

सबसे पहले तो आप घबराएँ बिलकुल नहीं। यह एक साधारण और आम बात है। यह इस वजह से होता है क्यूंकि उन्हें बहार आने के लिए दूध के दांतों को धकेलने की आवश्यकता पड़ी। अधिकांश मामलों में यह खुद-बा-खुद ठीक हो जायेगा। 

लेकिन इसका मतलब यह नहीं की सभी मामलों में यह खुद ही ठीक हो जायेगा। 

कुछ मामलों में डेंटिस्ट (दांतों के डोक्टर) से परामर्श की आवश्यकता पड़ेगी। 

crooked teeth treatment बच्चों के टेढ़े-मेढ़े दांत

बच्चों के टेढ़े-मेढ़े (crooked) होने पे क्योँ डक्टर से मिलने की आवश्यकता है

कुछ दुर्लभ मामलों में बच्चों दातों के टेढ़े-मेढ़े (crooked) होने की वजह कोई समस्या भी हो सकती है। कुछ गंभीर मामलों में दातों का टेढ़े-मेढ़े (crooked) होना पूरी तरह से ठीक नहीं भी होता है। 

हां - लेकिन समय पे डॉक्टर से मिल के इलाज के दुवारा उन्हें पूरी तरह से ख़राब होने से बचाया जा सकता है और इस तरह से चेहरे की खूबसूरती को भी बचाया जा सकता है।  

अगर आप के बच्चे के दांत टेढ़े-मेढ़े (crooked) हैं तो सम्भावना है की (उनके ठीक होने से पहले) उनकी वजह से बाकि के दांतों पे दबाव ज्यादा पड़े और (खाना खाते वक्त) वे ज्यादा घिसने की वजह से दुसरे दातों को भी ख़राब कर दें। 

यह जानना बहुत कठिन है की कौन से टेढ़े-मेढ़े (crooked) दांत आगे चलके समस्या पैदा कर सकते हैं। लेकिन अगर आप समय पे डेंटिस्ट (दांतों के डोक्टर) से मिलें तो इनका पता लगाया जा सकता है। 

डेंटिस्ट (दांतों के डोक्टर) को ऐसे दांतों को पता लगाने का अच्छा अनुभव होता है। तो बजाये इस बात का इन्तेजार किये की टेढ़े-मेढ़े (crooked) खुद ठीक हो जाएँ, आप को डेंटिस्ट (दांतों के डोक्टर)  की सहायता लेनी चाहिए। 

People also search for:

  • How can I correct my child's teeth growing in a crooked way? 
  • My child's bottom teeth is growing in crooked way - what's the remedy?
  • I have observed that my baby's teeth are coming in at an angle. What should I do?
  • My son's sideways tooth are growing crooked. How to correct it?
  • My daughter's permanent teeth are not growing straight. What procedure should be adopted to correct it?
  • Baby's bottom teeth is not aligned. What should be done? 
  • Child's permanence tooth is growing sideways? 
Terms & Conditions: बच्चों के स्वस्थ, परवरिश और पढाई से सम्बंधित लेख लिखें| लेख न्यूनतम 1700 words की होनी चाहिए| विशेषज्ञों दुवारा चुने गए लेख को लेखक के नाम और फोटो के साथ प्रकाशित किया जायेगा| साथ ही हर चयनित लेखकों को KidHealthCenter.com की तरफ से सर्टिफिकेट दिया जायेगा| यह भारत की सबसे ज़्यादा पढ़ी जाने वाली ब्लॉग है - जिस पर हर महीने 7 लाख पाठक अपनी समस्याओं का समाधान पाते हैं| आप भी इसके लिए लिख सकती हैं और अपने अनुभव को पाठकों तक पहुंचा सकती हैं|

Send Your article at contest@kidhealthcenter.com



ध्यान रखने योग्य बाते
- आपका लेख पूर्ण रूप से नया एवं आपका होना चाहिए| यह लेख किसी दूसरे स्रोत से चुराया नही होना चाहिए|
- लेख में कम से कम वर्तनी (Spellings) एवं व्याकरण (Grammar) संबंधी त्रुटियाँ होनी चाहिए|
- संबंधित चित्र (Images) भेजने कि कोशिश करें
- मगर यह जरुरी नहीं है| |
- लेख में आवश्यक बदलाव करने के सभी अधिकार KidHealthCenter के पास सुरक्षित है.
- लेख के साथ अपना पूरा नाम, पता, वेबसाईट, ब्लॉग, सोशल मीडिया प्रोफाईल का पता भी अवश्य भेजे.
- लेख के प्रकाशन के एवज में KidHealthCenter लेखक के नाम और प्रोफाइल को लेख के अंत में प्रकाशित करेगा| किसी भी लेखक को किसी भी प्रकार का कोई भुगतान नही किया जाएगा|
- हम आपका लेख प्राप्त करने के बाद कम से कम एक सप्ताह मे भीतर उसे प्रकाशित करने की कोशिश करेंगे| एक बार प्रकाशित होने के बाद आप उस लेख को कहीं और प्रकाशित नही कर सकेंगे. और ना ही अप्रकाशित करवा सकेंगे| लेख पर संपूर्ण अधिकार KidHealthCenter का होगा|


Important Note: यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो kidhealthcenter.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है।

Most Read

Other Articles

Footer