Category: टीकाकरण (vaccination)

हैजा (कॉलरा) वैक्सीन - Schedule और Side Effects

By: Vandana Srivastava | 5 min read

हैजा (कॉलरा) वैक्सीन के द्वारा आप अपने बच्चे को पूरी तरह हैजा/कॉलरा (Cholera) से बचा सकते हैं। हैजा एक संक्रमक (infectious) रोग हैं जो आँतों (gut) को प्रभावित करती हैं। जिसमें बच्चे को पतला दस्त (lose motion) होने लगता हैं, जिससे उसके शरीर में पानी की कमी (dehydration) हो जाती हैं जो जानलेवा (fatal) भी साबित होती हैं।

कॉलरा वैक्सीन अपने बच्चे को क्योँ दें

बदलते हुए मौसम के प्रभाव से आपके बच्चे को अचानक से पतला दस्त आने लगता हैं तो उसे अनदेखा न करे बल्कि बच्चे का ध्यान रखते हुए उसका उपचार करे क्योकि ये किसी घातक  संक्रामक बीमारी का संकेत हैं हो सकता है जैसे की हैजा (cholera)।

हैजा (cholera) एक  संक्रमक रोग (infectious disease) हैं जो आँतों (gut) को प्रभावित करती हैं। जिसमें बच्चे को पतला दस्त (lose motion) होने लगता हैं, जिससे उसके शरीर में पानी की कमी (dehydration) हो जाती हैं जो जानलेवा (fatal) भी साबित होती हैं। ऐसा दूषित पानी या खाना (contaminated water and food) जिसमे वाइब्रियो कोलेरी बैक्टीरिया (ibrio cholerae bacteria) हो ,हैजा का कारण बनता हैं। जहाँ गन्दगी अधिक होती हैं वहाँ यह रोग अधिक फैलता हैं। बच्चो में इस रोग के होने की अधिक सम्भावना होती हैं ,  क्योकि उन में रोग प्रतिरोधक क्षमता (undeveloped immune power) कम होती हैं।

इस लेख में आप सीखेंगे - You will read in this article

  1. हैजा की कहानी
  2. हैजा का टीकाकरण
  3. हैजा के लिए दो प्रकार का कॉलरा वैक्सीन हैं
  4. कॉलरा वैक्सीन के काम  करने का तरीका
  5. कॉलरा वैक्सीन - दुष्प्रभाव
  6. इन स्थितियों में डॉक्टर से संपर्क करें
  7. कॉलरा वैक्सीन - सावधानियां और प्रयोग विधि

 हैजा की कहानी - The Story of Cholera

 हैजा का टीकाकरण - Cholera vaccination

हैजा (कॉलरा) वैक्सीन के द्वारा आप अपने बच्चे को पूरी तरह हैजा/कॉलरा (Cholera) से बचा सकते हैं।

  • अपने बच्चे को बीमारी से बचाने के लिए टीका करण (cholera vaccination) करवाना आवश्यक है। टीका करण अक्सर मौखिक (oral) अथवा सुई वाले शॉट्स (injection shots) के रूप में किये जाते हैं। टीका करण का लिए अपने बच्चे को प्रत्येक टीके की सारी खुराकें अवश्य पूरी की जानी चाहिए (no cholera vaccine dose should be missed)।
  • बच्चों के जन्म से लेकर 6 साल तक के लिए टीका करण का कार्यक्रम चलाया गया है। यदि आपके बच्चे को यह टीके नहीं लगें हैं तो आप अपने बच्चे को डॉक्टर या अस्थानीय स्वास्थ्य विभाग (local health center) में जाकर टीके लगवाएं।
  • हैजा के टीके वेरा हैं जो इससे रोकने में प्रभावी हैं। टीका करण के पहले 6  महीने के लिए वे लगभग 85% संरक्षण प्रदान करते हैं।

Cholera vaccine - precautions and methods to use

 हैजा के लिए दो प्रकार का कॉलरा वैक्सीन हैं - There are two types of cholera vaccine available

1. ओरल डोज़
    ये टीका दो रूपो में होता हैं : निष्क्रिय और एटेनुएटेड।
2. इंजेक्शन 
    ये टीका जादा प्रभावी होता हैं।ये मृत्यु के खतरे को 50% कम कर देता हैं।

 कॉलरा वैक्सीन के काम  करने का तरीका - How cholera vaccine works? 

कॉलरा वैक्सीन, कॉलरा वायरस के निष्क्रिय स्वरूप (inactive form of cholera virus) को बेहद कम मात्रा में इस्तेमाल कर बनाया जाता है। कॉलरा वायरस के जीवविष (toxin) में से आविष्य हिस्से (non-toxic component of the toxin) का भी इस्तेमाल कॉलरा वैक्सीन में होता है। इसका नतीजा यह होता है की प्रितिक्रिया के रूप मैं शरीर का प्रतिरक्षित अनुक्रिया (Immune response) कॉलरा वायरस के प्रति सक्रिय हो जाता है बिना असल बीमारी को पहुचाये। 

How cholera vaccine works

 कॉलरा वैक्सीन - दुष्प्रभाव - Side affects of cholera vaccine

कॉलरा वैक्सीन की संभावित दुष्प्रभावों की सूची जो आप यहां पढ़ेंगे, विस्तृत नहीं है, इसके आलावा भी बहुत से दुष्प्रभावों हो सकते हैं। मगर यह भी जरुरी नहीं की हैजा वैक्सीन के हमेशा दुष्प्रभाव हों ही। इन बातों का जिक्र करना इसलिए जरुरी है क्योँकि कुछ बिरले घटनाओं में कॉलरा वैक्सीन के दुष्प्रभाव हानिकारक और नुकसानदेह हो सकते हैं। यदि आपको कॉलरा वैक्सीन के किसी भी दुष्प्रभाव का पता चलता है, और यदि ये कम नहीं होते हैं तो अपने डॉक्टर से तुरंत परामर्श लें।

कॉलरा वैक्सीन - दुष्प्रभाव

 इन स्थितियों में डॉक्टर से संपर्क करें - Conditions when you should seek doctors attention

  1. अगर आपके बच्चे को हल्का बुखार हो जाये तो
  2. आप के बच्चे को बेचैनी लगे तो 
  3. 1-से-2 दिनों तक भी दर्द ना जाये   

यदि आपको किसी ऐसे दुष्प्रभाव का पता चलता है जो ऊपर सूचीबद्ध नहीं किया गया है तो डॉक्टरी सलाह के लिए अपने डॉक्टर से संपर्क करें। आप अपने लोकल खाद्य और मेडिकल अफसर (local food and drug administration officer) को भी दुष्प्रभावों (side affects) की सूचना दे सकते हैं।

 कॉलरा वैक्सीन - सावधानियां और प्रयोग विधि - Cholera vaccine - precautions and methods to use

  • इस दवा का प्रयोग करने से पहले, अपने डॉक्टर को बच्चे की सभी दवाओं, अनिर्देशित प्रोडक्ट  (जैसे: विटामिन, हर्बल सप्लीमेंट आदि), एलर्जी, पहले से मौजूद बीमारियों, और वर्तमान स्वास्थ्य स्थितियों के बारे में जानकारी प्रदान करें।
  • कुछ स्वास्थ्य परिस्थितियां में आप का बच्चा कॉलरा वैक्सीन के प्रति ज्यादा सेंसिटिव हो सकता है। ऐसे स्थिति मैं अपने डॉक्टर के निर्देशों के अनुसार दवा का प्रयोग करें या उत्पाद पर प्रिंट किये गए निर्देशों का पालन करें।
  • खुराक आपके बच्चे की स्थिति पर आधारित होता  है। यदि आपके बच्चे की  स्थिति में कोई सुधार नहीं होता है या बच्चे की हालत ज्यादा खराब हो जाती है तो अपने डॉक्टर को बताएं।

Terms & Conditions: बच्चों के स्वस्थ, परवरिश और पढाई से सम्बंधित लेख लिखें| लेख न्यूनतम 1700 words की होनी चाहिए| विशेषज्ञों दुवारा चुने गए लेख को लेखक के नाम और फोटो के साथ प्रकाशित किया जायेगा| साथ ही हर चयनित लेखकों को KidHealthCenter.com की तरफ से सर्टिफिकेट दिया जायेगा| यह भारत की सबसे ज़्यादा पढ़ी जाने वाली ब्लॉग है - जिस पर हर महीने 7 लाख पाठक अपनी समस्याओं का समाधान पाते हैं| आप भी इसके लिए लिख सकती हैं और अपने अनुभव को पाठकों तक पहुंचा सकती हैं|

Send Your article at contest@kidhealthcenter.com



ध्यान रखने योग्य बाते
- आपका लेख पूर्ण रूप से नया एवं आपका होना चाहिए| यह लेख किसी दूसरे स्रोत से चुराया नही होना चाहिए|
- लेख में कम से कम वर्तनी (Spellings) एवं व्याकरण (Grammar) संबंधी त्रुटियाँ होनी चाहिए|
- संबंधित चित्र (Images) भेजने कि कोशिश करें
- मगर यह जरुरी नहीं है| |
- लेख में आवश्यक बदलाव करने के सभी अधिकार KidHealthCenter के पास सुरक्षित है.
- लेख के साथ अपना पूरा नाम, पता, वेबसाईट, ब्लॉग, सोशल मीडिया प्रोफाईल का पता भी अवश्य भेजे.
- लेख के प्रकाशन के एवज में KidHealthCenter लेखक के नाम और प्रोफाइल को लेख के अंत में प्रकाशित करेगा| किसी भी लेखक को किसी भी प्रकार का कोई भुगतान नही किया जाएगा|
- हम आपका लेख प्राप्त करने के बाद कम से कम एक सप्ताह मे भीतर उसे प्रकाशित करने की कोशिश करेंगे| एक बार प्रकाशित होने के बाद आप उस लेख को कहीं और प्रकाशित नही कर सकेंगे. और ना ही अप्रकाशित करवा सकेंगे| लेख पर संपूर्ण अधिकार KidHealthCenter का होगा|


Important Note: यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो kidhealthcenter.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है।

Most Read

Other Articles

indexed_40.txt
Footer